एक क्लिक यहां भी...

Wednesday, September 23, 2009

वोडाफोन का सेक्स व्यापार....


यह मोबाइल सेवाओ का अविष्कार होने के बाद का सबसे बड़ा संचार घोटाला है और पहले भी अदालत के हुक्म पर पचास लाख रुपए का जुर्माना भुगत चुकी वोडाफोन कंपनी अब सीधे सीधे लड़कियों की दलाली पर उतर आई है। हजारों लड़कियां और गृहणियां हैं जिन्हें दिन में तीन घंटे कहीं से भी आने वाले फोन पर हर तरह की बातें करने के बदले पचास रुपए रोज दिए जाते हैं और इस सेवा को चैट सेवा के माध्यम से प्रचारित किया गया है। एक लड़की को तीन हजार रुपए महीने मिलते हैं और उसके लिए तीन घंटे रोज बात करना अनिवार्य है। वोडाफोन हर कॉल का दो रुपए प्रति मिनट लेता है यानी तीन घंटे में छत्तीस सौ रुपए कमाता है। मतलब साफ है कि इन गरीब लड़कियों से भी वोडाफोन छह सौ रुपए महीना कमा रहा है।वोडाफोन का यह मौखिक सेक्स व्यापार किसी को भी सकते में डाल देने के लिए काफी है।
इस घिनौने व्यापार के लिए मैंने खुद चैट सर्विस का सदस्य बन कर लंबी बाते की हैं और देश भर में की है। हर जगह फोन उठाने वाली लड़की को कंपनी ने रिया नाम दिया है। दिलचस्प बात यह है कि आम तौर पर वोडाफोन की कस्टमर केयर से जो बहनजियां बात करती है उनका भी आम नाम रिया है। अब आइए असली कहानी पर। वोडाफ़ोन एस्सार भारत में वोडाफ़ोन समूह की एक सहायक है और जब इसकी पूर्ववर्ती हचिसन टेलीकॉम मुंबई के लिए सेलुलर लाइसेंस हासिल कर कार्य शुरू किया। वोडाफ़ोन एस्सार अब हलकों में कई लाख ग्राहकों ;सेलुलर ऑपरेटर्स एसोसिएशन ऑफ इंडिया, की रिपोर्ट के अनुसार सेवाओं का संचालन कर रही है।, इन वर्षों में वोडाफ़ोन एस्सार में हच ब्रांड के तहत सबसे सम्मानित दूरसंचार कंपनी देश में सर्वश्रेष्ठ मोबाइल सेवा प्रदाता कम्पनी और ज्यादातर क्रिएटिव और सबसे प्रभावी विज्ञापनदाता वर्ष नाम दिया गया है।
ये तो हुआ वोडा फोन का परिचय अब थोडा उनकी कारगुजारियों पर भी नजर डाल ले फिर मै मुद्दे की बात पर आता हूं। वोडाफोन ने हाल ही में एक योजना चलाई थी जिसमें कंपनी ने रोजाना 20 मिनट से अधिक बात करने वाले अपने ग्राहकों को प्रति दिन सोने का एक सिक्का और ड्रा के आधार पर एक कार जीतने का मौका दिया था। इस योजना के तहत पुरस्कार पाने की लालच में कंपनी के ग्राहक मोबाइल फोन पर गैरजरूरी कॉल करने लगे हैं। एक संस्था ने यह शिकायत दिल्ली के पूर्व मुख्य सचिव ओमेश सहगल के माध्यम से की थी जिन्होंने इस मामले की पैरवी की। शिकायत पर दिल्ली राज्य के उपभोक्ता आयोग के अध्यक्ष न्यायाधीश जेए कपूर ने कहा कि प्रतिदिन 20 मिनट से अधिक बात करने वाले अपने ग्राहकों के लिए सोने के 10 सिक्के और मारुती एसएएएक्स कार की बंपर पुरस्कार की लुभावनी योजना चलाकर कंपनी अप्रत्यक्ष रूप से अपने कारोबार को बढ़ा रही है। यह उचित नहीं है। इसीलिए दिल्ली सरकार की उपभोक्ता अदालत ने मोबाइल फोन पर अधिक बातें करने वालों को सोने के सिक्के और कार जीतने के मौके देने की पेशकश के मामले में मोबाइल सेवा मुहैया करवाने वाली प्रमुख कंपनी वोडाफोन एस्सार पर 50 लाख रुपये का जुर्माना लगाया है। कपूर ने जारी अपने आदेश में कहा कि जुर्माने की रशि से 100,000 रुपये उपभोक्ताओं के हितों की रक्षा करने के लिए काम करने वाली स्वयं सेवी संस्था सोसाइटी आफ कैटलिस्ट को दिया जाए और शेष राशि दिल्ली राज्य उपभोक्ता कल्याण कोष में जमा कराई जाए।
पर शायद कंपनी ने इससे भी कोई सबक नहीं लिया और शरू कर दी अपनी कारगुजारिया एक बार फिर अपनी चैट सर्विस के माध्यम से पर इस बार वोडाफोन कंपनी बेशर्मी की और पैसे कमाने की दौड़ मै नीचता की सारी हदे पर कर गयी और उसने उपभोक्ता के साथ रच दिया एक अजीब सा तिलिस्म जिसे कोई भी शरीफ उपभोक्ता शायद ही समझ पाता। हुआ यूं कि मैने वोडाफ़ोन का एक नंबर अभी कुछ ही दिन पहले ही लिया था और शायद एक वजह इस नंबर को लेने की ये भी थी क्योकि इस चैट सर्विस के बारे मै यदा कदा मित्रो से सुनता रहा और ये भी सुना था की इसमें कोई घपला भी है..... मेरा पत्रकार मन भी थोडा जगा और कर डाला उद्धाटन इस चैट सर्विस का और जो तथ्य मुझे कल अपने नंबर पर एक हजार रूपये एक रात मै खर्च करके इस चैट सर्विस के बारे में मिले वो निम्न प्रकार से है
वोडा फ़ोन ने पूरे भारत वर्ष मै तकरीबन हज़ारों कनेक्शन मुफ्त में उन जरूरत मंद महिलाओ को दिए जिनके लिए तीन हजार रुपया महीने में कमाना संभव नहीं था, पर रुकिए, यहाँ वोडाफ़ोन का उद्देश्य उनकी मदद करना बिलकुल नहीं था बल्कि वोडाफ़ोन ने बिना किसी पेपर के उनसे एक सौदा किया के वो डेली चैट नो पर आने वाली सारी काल रिसीव करेंगी और उनका दिन का टारगेट होगा तीन घंटे लगातार बात करना। चाहे वो व्यक्ति कुछ भी कैसी भी बात करे, अपने फ़ोन नहीं काटना। इसके बदले मै आपको मिलेंगे। 50 रुपया रोज यानी महीने के 1500 रुपया लगभग कोई भी मजबूर लड़की और महिला जो गरीबी से जूझ रही हो उसके लिए ये शायद नियामत हे थी सो वोडा फोन का ये षडयंत्र कम कर गया। दूसरी और अहम् बात इस चैट न. से जब भी आप अपनी पसंद के नंबर जो कंपनी आपको देती है, मिलाएंगे तो सबसे पहले आपकी कॉल एसटीडी ही लगेगी। मेरी पहली कॉल लगी जम्मू, दूसरी शिमला, तीसरी चंडीगढ़, चौथी जयपुर और फिर दिल्ली । इन सभी औरतो या लड़कियों में से सबने अपना नाम मुझे रिया ही बताया, तो संभावना ये भी बनती है कि वोडाफोन ने कोई कॉल सेण्टर टाइप भी खोल लिया हो जिस पर बैठ कर ये लोगो को आसानी से मूर्ख बना सकता है और अपनी जेब गर्म कर सकता है।
इनमे से चंडीगढ़ वाली महिला ने ये भी बताया कि लोग रात में बात करने के लिए बार बार फ़ोन करते रहते है पर वे अपना फ़ोन बंद नहीं कर सकती क्योकि दो बार से ज्यादा फ़ोन बंद मिलने पर वोडाफोन इनके पूरे महीने के पैसे काट लेता है जो इनके लिए जरुरी है, सो ये चुपचाप लोगो की गन्दी गन्दी बाते भी मज़बूरी में सुनती हैं। शायद ये सर्विस अख़बार मै आने वाले उन खतरनाक विज्ञापनों से भी भयानक है जिसमे प्यार की मीठी मीठी बातो का झांसा दिया जाता है। शर्म आती है इस कंपनी की सोच पर जो पैसे कमाने के लिए इतना गिर गयी हो कि इस वहशियत पर उतरी। एक ईस्ट इंडिया कंपनी ने भारत को गुलाम बनाया अगर इस प्रकार ये बाहर की कंपनिया देशी होने के ढोंग की पीछे धन कमाने के अपने उद्देश्य की पूर्ती करके हमे अपने जाल मै फंसा के कही फिर गुलाम न बना ले।
अरविंद सिंह 'सुधाकर'
(लेखक लम्बे समय से इलेक्ट्रॉनिक मीडिया में सक्रिय हैं और सम्प्रति सीएनईबी न्यूज़ में कार्यरत हैं, अरविंद से आप arvind.sudhakar@gmail.com पर सम्पर्क कर सकते हैं।)

10 comments:

  1. क्या इसकी रोकथाम के लिये भी कोई कानून है? लेकिन जिस स्त्री ने आपको यह सब बताया उसे यह भी तो हिदायत दी गई होगी कि किसीको वस्तविकता न बताये ,इसलिये आप्के श्रम और सूझबूझ की मै दाद देता हूँ ।

    ReplyDelete
  2. चौंकाने वाली खबर...
    पहले कुछ-कुछ सुन तो रखा था इन मस्ती भरी बातों के बारे में लेकिन इतने अधिक विस्तार से इस बात का खुलासा करने के लिए बहुत-बहुत धन्यवाद

    ReplyDelete
  3. बहुत बढ़िया रिपोर्ट | जरूरत है इस घोटाले को सब के सामने लाने की ताकि आम आदमी भी जान सके की उसे किस कदर फसाया जाता है इन कंपनियों द्वारा | आपका प्रयास सफल हो येही कमाना है !

    ReplyDelete
  4. हम कितने बड़े सच का सामना कर रहे है .....क्योंकि तीसरी दुनिया के देश हैं ....राजनेताओं और पुलिस को पैसा खिला कर आप इस देश में कुछ भी कर सकते हैं

    ReplyDelete
  5. अरविंद भाई बधाई इस रिपोर्ट के लिए....हम एक ऐसा देश बनते जा रहे हैं जहां सब कुछ बिक रहा है....

    ReplyDelete
  6. sir, u did a sting operation,great job ,congrats

    ReplyDelete
  7. This comment has been removed by the author.

    ReplyDelete
  8. किशनलाल भाई
    फ़र्ज़ी साबित करने वाले को ईनाम....
    कर दिखाएं...लफ्फाज़ी न करें....
    हम पत्रकार हैं...और फ़र्ज़ी वाले नहीं.......
    और जो केवल छेड़ने के लिए टिपियाते हैं....वो लिखने की भी कोशिश करें...आपकी तो प्रोफाइल भी बलॉगर पर उपलब्ध नहीं है....अब फ़र्जी किसे मानें....

    ReplyDelete
  9. This comment has been removed by the author.

    ReplyDelete

गूगल बाबा का वरदान - हिन्दी टंकण औजार

अर्थ...अनर्थ....मतलब की बात !

ब्लॉग एक खोज ....