एक क्लिक यहां भी...

Wednesday, May 27, 2009

चोरी या.....सीना जोरी.....




ज़बरदस्त विलंब या कहें विराम के बाद आज एक बार फिर आप सब के सामने हूँ....दरअसल इस विराम का कारण हमारे और कई माननीय ब्लॉगर बंधुओं की भाँती विश्राम की कामना नहीं था...अपितु इसका कारण रहा मेरा नौकरी .....या कहें संस्थान बदल लेना..क्यूंकि नौकरी तो पत्रकारिता की ही करनी है...,.हुआ ये की भाई अपन ने ज़ी न्यूज़ से रेसाइन दे मारा और पहुंच गए एक छोटे से चेंनेल सी एन ई बी में.....(ज्यादा जानकारी के लिए देखें http://www.cneb.in/) और उसके बाद ससुरा ऐसा चुनाव में फंसे कि ना ख़ुद का पता मिला ना ख़बर यार की मिली ...और महीने भर तक वो राग्दाई हुई कि पूछो मत ...सो अब चुनाव की टेंशन निपटी और वक़्त मिलना शुरू हुआ है....तो भाई लोग बहन लोग...आज चुनाव की परिणिति यानी की शपथ ग्रहण से जुदा एक किस्सा बयान कर रझा हूँ...देख कर हँसी भी आएगी और गुस्सा भी....
तो हुआ ये कि ख़बरों की दुनिया के माई बाप होने के गुमान में चूर एक चैनल ने फिर ऐसी करतूत की कि उन पर उठने जा रहे जूते भी शर्मिंदा होकर पैरों में रह गए.... देश भर में मशहूर....????? इंडिया टीवी नाम के इस चैनल ने प्रधानमन्त्री और मंत्री परिषद् का शपथ ग्रहण दिखायासभी चैनलों न्जे दिखाया ...पर कहाँ से ज़ाहिर है डीडी से उधारी में...क्यूंकि अशोका हाल के अन्दर और किसी कैमरे की इजाज़त नहीं है...पर ससुर इन लोगों की बेशर्मी देखिये कि सामने सामने डी डी से विसुअल ले कर लाइव दिखा रहे हैं....डी डी की चैनल ईद भी साफ़ नज़र आ रही है पर बेगैरत कह रहे हैं कि ये इंडिया टीवी का प्रसारण है....हेडर और फूटर ऐसे कि बड़े से बड़े धोखेबाज भी शर्मा जाएँ.....ज़रा नज़र डालें....

ये कहते हैं इंडिया टीवी पर देखिये पूरा शपथ ग्रहण.....तो क्या डीडी पर खो खो का मैच लाइव आ रहा था.....और बाकी चैनल क्या अधूरा शपथ ग्रहण दिखा रहे थे.......खैर अभी तक डी डी ने कोई आपत्ति नहीं की है....
दूसरा सीन सबसे मजेदार था.....इंडिया टीवी कहता है ...देखिये शपथ ग्रहण ६ कैमरों से लाइव ......तो ससुरों ये बताओ की ये कैमरे डी डी के हैं या तुम्हारे....गजब का अनैतिक साहस है भाई...और झूठ बोलने में गजब का आत्मविश्वास....रजत जी बधाई के पात्र हैं...अपनी अदालत में कभी ख़ुद को भी बुलाएं माँ कसम बड़ा मज़ा आएगा....हां और जनता यह निर्णय करे की ये चोरी है....या सीना जोरी.....

इस बार इतना विलंब नहीं होगा फिर मिलेंगे........

4 comments:

  1. चैनलों पर से आज नहीं, काफी पहले ही विश्वास उठ गया है, आपने और पुख्ता किया.

    अब जल्दी जल्दी आओ.

    ReplyDelete
  2. देर से आये दुरुस्त आये। सचमुच इस सीनाजोरी को क्या कहा जाय? टी०वी० चैनल वालों का "सबसे पहले" दिखलाने का अपना सुख है

    सादर
    श्यामल सुमन
    09955373288
    www.manoramsuman.blogspot.com
    shyamalsuman@gmail.com

    ReplyDelete
  3. इंडिया टी.वी.को सब माफ़ है.

    ReplyDelete
  4. आज कल तो कई नए आयाम दिखने लगे है. मोलतोल की पत्रकारिता से लेकर बेमोल तक
    इन्ही जल्दीबाजी के खेलों ने तो बेडा गर्क किया है, अच्छी खबर दी आपने ........... और इंडिया टीवी तो है ही पत्रकारिता की अर्थी उठाने केलिए.................

    ReplyDelete

गूगल बाबा का वरदान - हिन्दी टंकण औजार

अर्थ...अनर्थ....मतलब की बात !

ब्लॉग एक खोज ....