एक क्लिक यहां भी...

Friday, November 6, 2009

युग का अवसान .....


कल देर रात हिन्दी पत्रकारिता के युग पुरूष प्रभाष जोशी का देहावसान हो गया। केव्स संचार की ओर से उनको भावभीनी श्रद्धांजलि.....हिन्दी पत्रकारिता के लिए ये राह भटकने के बाद दिक् सूचक के खो जाने जैसा है....प्रभाष जी हम सब आज आप के कारे किए कागदों की वजह से पत्रकार हैं...आपको पढ़ पढ़ के लिखना सीखा है....और आपको याद याद कर कर के लिखते रहेंगे.....

3 comments:

  1. दु्खद!! विनम्र श्रृद्धांजलि!!

    ReplyDelete
  2. अत्यन्त दुखद । दुखी हैं हमसब ।

    ReplyDelete
  3. बिल्‍कुल सत्‍य। विचार यही रहकर बल प्रदान करते रहेंगे। विनम्र श्रद्धांजलि।

    ReplyDelete

गूगल बाबा का वरदान - हिन्दी टंकण औजार

अर्थ...अनर्थ....मतलब की बात !

ब्लॉग एक खोज ....