एक क्लिक यहां भी...

Friday, April 3, 2009

चुनावी घोषणा पत्र वाकई चुनावी है...विडियो भी देखें !

भारतीय जनता पार्टी ने आज अपना चुनावी घोषणा पत्र जारी किया, इसे वैसे एक तरह से भाजपा के १९९८ के घोषणा पत्र का कॉपी पेस्ट भी कह सकते हैं पर मानना पड़ेगा की चुनावी घोषणा पत्र वाकई चुनावी है....हमेशा की तरह इस बार भी चुनाव आते ही भाजपा को राम याद आ गए हैं, मतलब हारे को हरिनाम ! संक्षिप्त विवरण आज गहन समीक्षा कल ......

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने अपने चुनाव घोषणा पत्र में गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन करने वाले परिवारों को हर महीने 35 किलो अनाज मात्र दो रुपए किलो दाम पर देने का वादा किया है.
शुक्रवार को नई दिल्ली में पार्टी का घोषणापत्र जारी किया गया जो सुशासन, विकास और सुरक्षा के इर्द-गिर्द घूमता है.
देखें ऐ एन आई


पार्टी की ओर से प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार लाल कृष्ण आडवाणी ने इन वादों को पूरा करने का संकल्प लिया.

घोषणापत्र जारी करने के अवसर पर लाल कृष्ण आडवाणी समेत भाजपा के सभी बड़े नेता एक साथ मंच मौजूद थे. रामनवमी के दिन अपने घोषणापत्र को जारी करने को शुभ मानते हुए आडवाणी ने कहा कि पार्टी राम मंदिर और रामसेतु के लिए प्रतिबद्ध है.

अपने चुनाव घोषणापत्र में भाजपा ने आतंकवाद से कड़ाई से निपटने के लिए पोटा जैसा कड़ा कानून लागू करने का भी वादा किया है.

इसके अलावा अलगाववादियों को विदेशों से मिलने वाली मदद का पता लगाकर उस रास्ते को बंद करने की बात कही गई है.



माओवादियों का सफ़ाया

सत्ता में आने पर तीन लाख रुपए तक की आय को करमुक्त करने की बात कही गई है. महिलाओं के लिए ये सीमा साढ़े तीन लाख रुपए सालाना होगी. पार्टी का कहना है कि इससे साढ़े तीन करोड़ महिलाओं को लाभ पहुँचेगा.


"महिलाओं के साढ़े तीन लाख तक के वेतन को आयकर से मुक्त कर दिया जाएगा."

भाजपा ने विदेशी बैंकों में जमा भारतीय धन का पता लगाने पर ज़ोर देते हुए कहा कि इसके लिए कड़े कदम उठाए जाएंगे और उस धन को वापस लाकर देश के कल्याण पर खर्च किया जाएगा.

घोषणापत्र में अवैध आप्रवासियों की पहचान कर उन्हें देश से बाहर करने और बांग्लादेश सीमा पर बाड़ लगाने का काम त्वरित गति से करने का भी वादा किया गया है.

इसके अलावा माओवादियों का सफ़ाया करने के लिए छत्तीसगढ़ के मॉडल का इस्तेमाल करने की बात भी कही गई है.

घोषणापत्र में अर्धसैन्य और सैन्य बलों के जवानों को आयकर से मुक्त करने, बेहतर वेतन संरचना बनाने और पूर्व सैनिकों का पुनर्वास करने का भरोसा दिलाया गया है.

महिला सशक्तिकरण

पार्टी का कहना है कि वह मध्यप्रदेश में लोकप्रिय लाडली लक्ष्मी कार्यक्रम को पूरे देश में लागू करना चाहती है जिसके तहत गरीबी रेखा से नीचे प्रत्येक महिला को बैंक खाते खोलने के लिए डेढ़ हज़ार रुपए और स्कूल जाने वाली सभी बालिकाओं को मुफ़्त साइकिल दी जाएगी.


"गरीब छात्राओं को साइकिल मुफ़्त में दी जाएगी."



भारतीय जनता पार्टी ने कंप्यूटर के दामों में भारी कटौती करने और पाँच वर्षों में सभी शैक्षिक संस्थानों में इंटरनेट लाने की भी घोषणा की है.

खेलों के आधारभूत ढांचे के लिए पार्टी पाँच हज़ार करोड़ रुपए की परियोजना बनाने की बात कह रही है जबकि विद्यालय पाठ्यक्रम में खेल का विषय अनिवार्य रूप से लागू करने की बात भी घोषणापत्र में है.

भाजपा ने वरिष्ठ नागरिकों को भी अपने घोषणापत्र में स्थान दिया है और रेल यात्रा में छूट देने की उम्र 65 वर्ष से घटाकर 60 वर्ष करने का बात कही है. इसके अलावा उनकी पेंशन को पूरी तरह से आयकर मुक्त करने की बात कही है.

(साभार : बी बी सी हिन्दी)

1 comment:

  1. दरअसल बवाल की जड़ यही है कि कोई अल्पसंख्यकों के नाम पर राजनीति कर रहा है तो कोई राम के नाम पर.....राम तो किसी के भी आदर्श हो सकते है फिर उन पर लोगों को लड़ाना क्यों....
    भाजपा ने तो दो दो निशाने साधे हैं....राम का राग भी अलापा है और घोषणापत्र पूरा पढ़ें तो अल्पसंख्यकों को भी लुभाने की बात की है.....
    क्यों न धर्म को राजनीति से दूर रखा जाए

    ReplyDelete

गूगल बाबा का वरदान - हिन्दी टंकण औजार

अर्थ...अनर्थ....मतलब की बात !

ब्लॉग एक खोज ....