एक क्लिक यहां भी...

Tuesday, April 14, 2009

बाबा साहब अमर रहे ...



"अव्वल अल्लाह नूर उपाय कुदरत के सब बन्दे
एक नूर से सब जग उपजा कौन भले को मन्दे"

आज १४ अप्रैल मतलब आंबेडकर जयंती पर केव्स संचार बाबा साहब को श्रृद्धांजलि देता है ...भले ही महापुरुष आज सियासी लोगों की बपौती बन गए हों लेकिन आम जन के लिए वे आज भी बहुत प्रेरणाप्रद हैं , जैसे की अपने इन उद्गारों के साथ बाबा साहब -

"जो पीढी अपने इतिहास पर गर्व की अनुभूति नही रखती , वो अपने इतिहास का निर्माण कभी नही कर सकती ..."

No comments:

Post a Comment

गूगल बाबा का वरदान - हिन्दी टंकण औजार

अर्थ...अनर्थ....मतलब की बात !

ब्लॉग एक खोज ....