एक क्लिक यहां भी...

Friday, November 14, 2008

जब चुनावी माहौल बन ही गया है तो....

पूरे देश में चुनावी गुलाल उड़ा हुआ है ..... होना भी चाहिए क्यूंकि ६ राज्यों में चुनाव हैं और फिर अगले साल अप्रैल तक आम चुनाव भी हो ही जायेंगे। ऐसे में हमारे ज़्यादातर साथियों की ख्वाहिश यही थी की केव्स संचार पर कुछ दिन तक हम भी चुनावी होली खेल लें। तो भाई लोगों ( बहनें भी अपने को शामिल मानें ) तय रहा कि केव्स वाले भी चुनावी होली में सराबोर होंगे और खुशखबरी है अपने राजनीतिक पत्रकार भाइयों के लिए ( वैसे बहनें राजनीति से दूर ही रहती हैं पर ख़ुद को शामिल मानें ) कि अब आप केव्स संचार के मैदान में कूद पड़ें क्यूंकि सोमवार दिनांक १७-११-२००७ से केव्स पर चुनावी दंगल शुरू होने जा रहा है। बड़ी बात यह है कि इसमें हमें अपने कई साथियों का सहयोग मिलेगा जो मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, दिल्ली, राजस्थान और तो और कश्मीर चुनाव पर फील्ड में भी पत्रकारिता कर रहे हैं.....तो ख़ास तौर पर हमारे इन गठीले पहलवानों के दंगल का मज़ा लेने के लिए तैयार हो जायें !
फिलहाल आप सभी को चाचा नेहरू के जन्मदिवस और बाल दिवस की शुभकामनाएं ..... काश दुनिया में सब बच्चे बन जाते ..... फिर झगडा तो होता पर दुश्मनी नही होती !
आमीन

2 comments:

  1. कायल हूं यार मयंक तुम्हारी लेखनी का...खैर छत्तीसगढ़ चुनाव से संबन्धित जानकारी मैं अवश्य ब्लाग पर दूंगा लेकिन दिक्कत यह है कि मैं ब्लाग फ्रेंडली नहीं हूं हां कमेंट करना ही आता है या फिर तुम्हारी ई मेल आईडी पर लिख दिया करूंगा तुम पब्लिस कर देना। जय लोकतंत्र

    ReplyDelete
  2. अच्छा प्रयास .सफलता के लिए शुभकामनायें
    और दो लाइनें आपकी बात पर ;

    गर दुनिया में ज्यादातर सच्चे होते
    तो अधिकतर मन से तो बच्चे होते
    झगडे तो होते पर,दुश्मनी नहीं होती
    तबियत देशों की,अनमनी नहीं होती

    ReplyDelete

गूगल बाबा का वरदान - हिन्दी टंकण औजार

अर्थ...अनर्थ....मतलब की बात !

ब्लॉग एक खोज ....