एक क्लिक यहां भी...

Wednesday, March 4, 2009

हमला बेसवॉल मैच में होना था।।।।।।

श्रीलंका की टीम पर आतंकी हमला उर्फ पाकिस्तानी हमला सचमुच मन को आहत करने वाला है इससे एक बात तय होती है कि आतंकी कैसे भी दुनिया की आर्थिक व्यवस्था की कमर तोड़ना चाहता है...खेल के नये फार्मेट आईपीएल ने इसे एक दुधारू गाय साबित किया है वहीं क्रिकेट की लेकप्रियता भी एक कारण है इन हमलों का....इस घटना ने भले ही लोगों को रुलाया शोक व्यक्त करने का मौक़ा दिया है मगर मुझे तो सिर्फ अफसोस है कि क्रिकेट खेल काश अमरिका में खेला जाता तो कितना अच्छा होता और ये टीम श्रीलंका की ना होकर अमरिका की होती तब तो भारत की बल्ले बल्ले हो जाती है यहां के नकारा गीदड़ नेताओं की तो जैसे निकल पड़ती मैं गीदड़ इसलिए कह रहा हूँ क्योकि गीदड़ों की तरह ये मुम्बई हमले का बदला अमरिका ले ऐंसी आस लिए बैठे हैं....जैसे शेर शिक़ार करता है गीदड़ उसकी जूठन के लिए मुं ताकते रहते हैं ठीक ऐसे ही हमारे कर्णधार कर रहे हैं...मुझे हमले की खुशी भी है कि पाक का सच दुनिया की बंद आंखों में ज़बरन घुस रहा है। आप कब तक करोगे आंखे बंद कितनी मींचोगे आंखें सच ने ठान लिया आपकी बेइमान आंखों की किरकिरी बन कर रहेगा...

No comments:

Post a Comment

गूगल बाबा का वरदान - हिन्दी टंकण औजार

अर्थ...अनर्थ....मतलब की बात !

ब्लॉग एक खोज ....