एक क्लिक यहां भी...

Wednesday, October 1, 2008

जी न्यूज़ का जी 24 घंटे छत्तीसगढ़ लांच हुआ


रायपुर में आज सुबह एक भव्य कार्यक्रम में जी ग्रुप ने अपने लंबे समय से प्रस्तावित जी २४ घंटे छत्तीसगढ़ का लोकार्पण कर दिया। चैनल मुख्य रूप से छत्तीसगढ़ की खबरें प्रसारित करेगा पर राष्ट्रीय एवं अंतर्राष्ट्रीय घटनाक्रम पर भी इसकी सूक्ष्म नज़र रहेगी। जी न्यूज़ जिसने हाल में ही अपनी प्रसारण नीति को आमूलचूल ढंग से बदलते हुए केवल गंभीर खबरिया चैनल के रूप में काम करने का निर्णय लिया था, उम्मीद जतायी जा रही है किइस चैनल का भी कलेवर गंभीर रखा जाएगा।

चैनल के लोकार्पण के अवसर पर हुए भव्य कार्यक्रम में छत्तीसगढ़ के मुख्य मंत्री रमन सिंह, पूर्व मुख्यमंत्री विद्याचरण शुक्ल, जी न्यूज़ लिमिटेड के अध्यक्ष लक्ष्मी गोयल, एस बी मीडिया के अध्यक्ष तथा स्वामी रामदेव उपस्थित थे। स्वामी रामदेव ने मंच से भावी पत्रकारों और लोगों को देश सेवा का प्राण दिला कर चैनल का शुभारम्भ किया और इसके साथ ही जी २४ घंटे छत्तीसगढ़ का प्रसारण प्रारंभ हो गया। कार्यक्रम का मुख्य आकर्षण रहा छत्तीसगढ़ की प्रसिद्द पंवानी शैली की लोक गायिका तीजन बाई का महाभारत प्रसंग गायन।

चैनल को प्रथम दृष्टया देखने पर ही समझ में आता है कि हालांकि चैनल के संचालन की ज़िम्मेदारी अनुभवी कन्धों पर है पर टीम का बहुसंख्य हिस्सा युवा पत्रकारों का है। खुशी की बात यह भी कि चैनल ने हमारे विश्वविद्यालय में एक कैम्पस इंटरव्यू किया था जिसमे हमारे विभाग के काफ़ी बड़ी संख्या में विद्यार्थियों का भी चयन हुआ था तो हम में से कई उस टीम का हिस्सा हैं .....

आप सबको बधाई और नए चैनल को शुभकामनाएं !

1 comment:

  1. बहुत शुक्रिया मयंक जी..यह सोचकर खुशी होती है कि हम दोनो एक ही कॉलेज के छात्र तो हैं ही साथ ही एक ही परिवार में काम भी कर रहे हैं। और जो जिम्मेदारी जी समूह ने हम युवाओं पर डाली है उसे ईमानदारी से निभाने की हम पूरा प्रयास करेंगे,खासकर माखनलाल चतुर्वेदी पत्रकारिता विवि के छात्र तो जी तोड़ मेहनत कर रहे हैं चैनल में। मैं और मेरे साथी बरुण जो कि दोनो ही माखनलाल विवि से हैं एसाइनमेंट जैसी महत्वपूर्ण डेस्क पर हैं और नाइट शिफ्ट में काम कर रहे हैं चैनल की पॉलिसी के अनुसार सप्ताह में नाईट शिफ्ट में काम करने वालों को दो अवकाश मिलते हैं लेकिन हम दोनो ने फैसला किया है कि बिना ऑफ लिए ही काम करेंगे जब तक कि चैनल स्टेबलिस नही हो जाता और पिछले दो महीनों से बिना साप्ताहिक अवकाश लिए काम कर रहे हैं। इसी प्रकार हमारे विवि के अन्य छात्र जो यहां पर काम कर रहे हैं वो भी बिना समय की परवाह के बारह बारह घंटे काम कर रहे हैं..हम साबित कर देंगे कि यदि माखन लाल विवि के छात्रों को अवसर मिले तो वे किसी से कम नहीं।

    ReplyDelete

गूगल बाबा का वरदान - हिन्दी टंकण औजार

अर्थ...अनर्थ....मतलब की बात !

ब्लॉग एक खोज ....